Read latest updates about "Yoga/योगा" - Page 1

  • किस तरह ध्यान लगाने में मददगार है सिद्धासन

    किस तरह ध्यान लगाने में मददगार है सिद्धासन

    हमारे शरीर में सात चक्र होते हैं, जिनके नाम क्रमशः मूलाधार, स्वाधिष्ठान, मणिपुर, अनाहत, विशुद्धि, आज्ञा और सहस्रार हैं। इन सभी चक्रों के अलग-अलग काम होते हैं। जैसे किसी जीवित प्राणी में ऊर्जा ऊपर की दिशा में मूलाधार चक्र से सहस्रार चक्र की ओर...

    2018-11-12 07:13:56.0
  • पवनमुक्तासन योग से पाएं पेट की हर समस्या से निजात

    पवनमुक्तासन योग से पाएं पेट की हर समस्या से निजात

    पवनमुक्तासन अपने नाम के अनुरूप है यानी यह पेट से गैस आदि की समस्या को दूर करता है। जिनको पेट में गैस की समस्या होती है उन्हें पवनमुक्तासन करना चाहिये। इस योग की क्रिया द्वारा शरीर से दूषित वायु को शरीर से मुक्त किया जाता है। शरीर में स्थित पवन...

    2018-10-10 06:44:55.0
  • नाड़ीशोधक प्राणायाम है अनुलोम-विलोम

    नाड़ीशोधक प्राणायाम है अनुलोम-विलोम

    अनुलोम-विलोम प्रणायाम में सांस लेने व छोड़ने की विधि को बार-बार दोहराया जाता है। इस प्राणायाम को 'नाड़ी शोधक प्राणायाम' भी कहते है। अनुलोम-विलोम को रोज करने से शरीर की सभी नाडि़यों स्वस्थ व निरोग रहती है। इस प्राणायाम को हर उम्र के लोग कर सकते हैं।...

    2018-09-20 07:49:59.0
  • पतली कमर चाहिए तो करें पादहस्तासन

    पतली कमर चाहिए तो करें पादहस्तासन

    पतली कमर की चाह किस स्त्री को नहीं है। हर उम्र की लड़कियों को पतली कमर की इच्छा होती है। लेकिन दिक्कत यह है कि पतली कमर हासिल करना किसी बड़े टास्क सरीखा हो गया है। पादहस्तासन इसके लिए सबसे सरल और सटीक उपाय है। चूंकि हाथों से पैरों को पकड़कर यह आसन...

    2018-09-15 07:06:14.0
  • ब्रेन स्ट्रोक के बाद डॉक्टर से पूछें ये सवाल

    ब्रेन स्ट्रोक के बाद डॉक्टर से पूछें ये सवाल

    जीवनशैली में हो रहे तेज बदलाव के चलते ब्रेन स्ट्रोक की समस्या तेजी से बढ़ी है, मगर जानकारी के चलते इसके खतरों से अभी भी अधिकांश लोग अनजान हैं। इंडियन स्ट्रोक एसोसिएशन की एक स्टडी के मुताबिक, दिल्ली के 45 प्रतिशत लोगों को यह भी मालूम नहीं है कि...

    2018-08-24 06:41:12.0
  • रोज सुबह कसरत करने से होने वाले ये फ़ायदे

    रोज सुबह कसरत करने से होने वाले ये फ़ायदे

    शरीर को अच्छे बनाएं रखने के लिए सुबह की एक्सरसाइज को सबसे अच्छा माना जाता है। रोज सुबह व्यायाम करने से हमारा शरीर तंदुरुस्त और सेहतमंद रहता है।व्यायाम करने से हमें सारा दिन ताजगी महसूस रहती है और हमारी मांसपेशियों को मजबूत बनाया जा सकता है। अगर हम...

    2018-08-17 06:10:31.0
  • गठिया की होगी छुट्टी अनुलोम विलोम से

    गठिया की होगी छुट्टी अनुलोम विलोम से

    अनुलोम-विलोम को रोज करने से शरीर की सभी नाडि़यां स्वस्थ व निरोगी रहती हैं। इस प्राणायाम को हर उम्र के लोग कर सकते हैं। वृद्धावस्था में अनुलोम-विलोम प्राणायाम योगा करने से गठिया, जोड़ों का दर्द व सूजन आदि शिकायतें दूर होती हैं।विधि :- दरी व कंबल...

    2018-08-03 05:43:01.0
  • कमर दर्द का इलाज आपके हाथ

    कमर दर्द का इलाज आपके हाथ

    कमर दर्द कोई रोग नहीं है। यह आज की तेज रफ्रतार जिंदगी की देन है, आधुनिकता का अभिशाप है। कमर दर्द का सबसे महत्वपूर्ण कारण मानसिक दबाव है क्योंकि हम हमेशा हर काम जल्दीबाजी में निपटाना चाहते हैं, जिससे शरीर और दिमाग जल्दी थक जाते हैं और हमारी...

    2018-06-29 11:17:27.0
  • एसिडिटी से घबराएं नहीं

    एसिडिटी से घबराएं नहीं

    अम्लपित्त (एसिडिटी) पाचन-क्रिया से संबंधित रोग है। इसका मुख्य कारण अकर्मण्ड एवं असंयमित जीवन-शैली तथा खानपान की गलत आदतें हैं। इस रोग में सीधे तौर पर यकृत ठीक प्रकार से काम नहीं करता, उसकी पाचन-क्रिया भी ठीक नहीं रहती। इससे भूख की कमी, कब्ज व अपच की...

    2018-06-05 09:28:43.0
  • प्राणायाम से बनाएं मांसपेशियों एवं फ़फ़ेड़ों को मजबूूत

    प्राणायाम से बनाएं मांसपेशियों एवं फ़फ़ेड़ों को मजबूूत

    प्राणायाम एक ऐसी क्रिया है जिससे न सिर्फ प्राणवायु की अधिकतम आपूर्ति हमारे अंगों को होती है वरन् आंतरिक अंगों का भली-भांति उपयोगी तो है, इससे आत्मोन्नति भी संभव है। प्राणायाम करते समय डायफ्राम और पेट की मांसपेशियां बारी-बारी से खूब सिकुड़ती और फैलती...

    2018-06-02 06:04:49.0
  • एसिडिटी पर पाएं काबू

    एसिडिटी पर पाएं काबू

    आजकल सभी को एसिडिटी की बीमारी हैं। अपनी बॉडी को एसिड से अल्कलाइन नेचर में बदलने के लिए अनेक उपायों से राहत पा सकते हैं- - धीमी सांस लेने का प्रयास करें।- हंसिए-हंसाइए।- योगासन, प्राणायाम और मेडिटेशन का अभ्यास करें।- गहरी और भरपूर नींद लीजिए।- लौकी...

    2018-05-09 06:59:35.0
Share it
Top
To Top