Read latest updates about "Calculus/पथरी" - Page 1

  • विभिन्न प्रकार के पशुओं के दूध में छिपे गुण

    विभिन्न प्रकार के पशुओं के दूध में छिपे गुण

    अकसर गाय और भैंस का दूध ही उपलब्ध होता है। उसके गुण भी ज्यादातर लोगों को पता होते हैं। गाय, भैंस के दूध के अलावा अन्य पशुओं का दूध भी पीने योग्य होता है पर उसकी उपलब्धता न होने के कारण बहुत से लोग उन पशुओं से अनभिज्ञ रहते हैं। बकरी, ऊंटनी, भेड़ व...

    2018-11-15 11:14:46.0
  • चकोतरा फल के फायदे जानिए, अनेक बीमारी से दूर रहिये

    चकोतरा फल के फायदे जानिए, अनेक बीमारी से दूर रहिये

    चकोतरा एक ऐसा फल है जिसके बारे में बहुत ही कम लोग जानते हैं। चकोतरा को ग्रेपफ्रूट, हेल्दी स्नैक, चकोतरा नींबू और संतरे की प्रजाति का होता है। चकोतरा स्वाद में खट्टा और हल्का सा मीठा होता है। चकोतरा में सिट्रिक एसिड की मात्रा अधिक होती है। ये नींब और...

    2018-11-12 07:44:10.0
  • सेहत के लिए फायदेमंद बथुआ

    सेहत के लिए फायदेमंद बथुआ

    बथुआ एक ऐसा साग है जिसके गुणों से ज्यादातर लोग अनजान हैं। यह सिर्फ सर्दी के मौसम में ही मिलता है और ठंड में इसका सेवन सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद माना जाता है। इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन A, आयरन, कैल्शियम, फॉसफोरस और पौटेशियम मौजूद होता है।...

    2018-10-22 07:47:24.0
  • सर्दियों में मालिश और व्यायाम उपयोगी

    सर्दियों में मालिश और व्यायाम उपयोगी

    मालिश करने से रक्त संचार में तेजी आती है। शरीर के विभिन्न अंगों की क्रियाशीलता, पाचन-शक्ति, रस निस्सरण, पचे हुए भोजन से उत्पन्न रस का अवशोषण तथा सफाई (उत्सर्जित पदार्थों, मल-मूत्र, पसीना आदि) के लिए यह सर्वोत्तम व्यायाम है।शरीर को स्वस्थ रखने में...

    2018-10-22 07:15:55.0
  • रोटी में छिपा है सेहत का राज

    रोटी में छिपा है सेहत का राज

    पोषक तत्व :कहते हैं दो जून की रोटी ही काफी है पेट भरने के लिए। ये बात सच है कि दो जून की रोटी से पेट भरता है। लेकिन इसके अलावा रोटी में कई पोषक तत्व होते हैं। जो शरीर की ऊर्जा को बनाये रखते हैं। और हमें स्वस्थ रखते हैं। रोटी में बी 1, बी 2, बी 3, बी...

    2018-10-06 07:08:55.0
  • असहनीय पीड़ा वाली बीमारी पथरी

    असहनीय पीड़ा वाली बीमारी पथरी

    पथरी एक आम बीमारी के रूप में उभर कर सामने आ चुकी है। जहां पहले पथरी के मरीज कभी-कभी सुनने को मिलते थे, वहीं अब हर दूसरा व्यक्ति पथरी की बीमारी से ग्रस्त होता है। पथरी एक ऐसी बीमारी है जिसमें रोगी को असहनीय पीड़ा सहन करनी पड़ती है। सामान्यतः पथरी हर...

    2018-08-29 06:45:06.0
  • अनेक बीमारियों में कारगर है तुलसी

    अनेक बीमारियों में कारगर है तुलसी

    ज्यादातर हिंदू परिवारों में तुलसी की पूजा की जाती है। इसे सुख और कल्याण के तौर पर देखा जाता है लेकिन पौराणिक महत्व से अलग तुलसी एक जानी-मानी औषधि भी है, जिसका इस्तेमाल कई बीमारियों में किया जाता है। सर्दी-खांसी से लेकर कई बड़ी और भयंकर बीमारियों में...

    2018-08-27 09:19:11.0
  • आयुर्वेद के अनुरूप मसालों का प्रयोग

    आयुर्वेद के अनुरूप मसालों का प्रयोग

    आयुर्वेद शास्त्र के अनुसार इस संसार में कोई भी ऐसी वस्तु नहीं है जिसका प्रयोग स्वास्थ्य को स्वस्थ रखने में नहीं किया जा सकता। वनस्पति जगत, प्राणी जगत और खनिज से प्राप्त होने वाले द्रव्यों का शरीर पर होने वाले गुण-दोषों का अध्ययन करके विभिन्न प्रकार...

    2018-08-17 10:10:59.0
  • पाना है रोगों से छुटकारा तो रोज शंख बजाना

    पाना है रोगों से छुटकारा तो रोज शंख बजाना

    शंख का महत्व धार्मिक दृष्टि से ही नहीं, वैज्ञानिक रूप से भी है। वैज्ञानिकों का मानना है कि इसके प्रभाव से सूर्य की हानिकारक किरणें बाधक होती हैं। इसलिए सुबह और शाम शंखध्वनिकरने का विधान सार्थक है। सनातन धर्म की कई ऐसी बातें हैं, जो न केवल आध्यात्मिक...

    2018-08-11 06:27:39.0
  • तुलसी है कई रोगों की दवा

    तुलसी है कई रोगों की दवा

    आयुर्वेद में तो पहले से ही लोग तुलसी के गुणों को मानते थे, अब एलोपैथी भी इन गुणों को मानने लगी है। विशेषज्ञों ने स्वीकार किया है कि तुलसी मनुष्य के शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक होती है और मलेरिया, डेंगू, खांसी, सर्दी-जुकाम आदि विभिन्न...

    2018-08-01 07:18:25.0
  • कड़वा करेला, मीठे गुण

    कड़वा करेला, मीठे गुण

    कई लोग कड़वा होने के कारण करेले को खाना पसंद नही करते लेकिन यह शरीर के लिए काफी लाभदायक होता है। स्वस्थ रहने के लिए खट्टे, मीठे, कसैले, तीखे रस की ज़रूरत होती है, उसी तरह कड़वे रस की ज़रूरत भी शरीर को होती है। स्वस्थ शरीर के लिए रस की उचित मात्र की...

    2018-08-01 06:34:35.0
  • चकोतरा फल के फायदे

    चकोतरा फल के फायदे

    चकोतरा संतरे की प्रजाति का फल है । यह सभी रसदार फलों में सबसे बड़े आकार का फल है। चकोतरे में संतरे की अपेक्षा सिट्रिक अम्ल अधिक तथा शर्करा कम होती है। इसका छिलका पीला तथा अंदर का भाग लाल रंग का होता है। इसमें नींबू और संतरे के सभी गुण मिलते हैं।...

    2018-07-11 05:35:57.0
Share it
Top
To Top