Read latest updates about "Dengue/डेंगू" - Page 1

  • बेमिसाल नीम के औषधीय गुण

    बेमिसाल नीम के औषधीय गुण

    नीम आयुर्वेद का एक महत्वपूर्ण भाग है। नीम का उपयोग अनेक रोगों व समस्याओं के निदान में किया जाता है। नीम का पेड़ अनेक गुणों से परिपूर्ण होता है। नीम के पेड़ के सभी भागों का अपना एक अलग महत्व होता है। नीम के फल और बीजों से तेल निकाला जाता है। इस तेल...

    2019-08-21 06:42:20.0
  • प्राण घातक बीमारियों की दवा है कलौंजी

    प्राण घातक बीमारियों की दवा है कलौंजी

    कलौंजी के बारे में कहा जाता है कि यह कलयुग की संजीवनी बूटी है। सही तरीके से यदि इसका सेवन किया जाए तो इससे भयानक से भयानक बीमारी ठीक हो सकती है। आज हम आपको उन बीमारियों के बारे में बताने जा रहे हैं जिसमें कलौंजी का इस्तेमाल किया जा सकता है। साथ हम...

    2019-08-09 08:34:24.0
  • गाय का दूध देता है, सेहत के बेहतरीन फायदे

    गाय का दूध देता है, सेहत के बेहतरीन फायदे

    दूध पीना सेहत और खास तौर से हड्ड‍ियों के लिए फायदेमंद होता है, यह बात तो आप जानते हैं, लेकिन भैंस या बकरी का दूध या पैकेट का दूध पीने के बजाए अगर गाय का दूध पिया जाए, तो आप पाएंगे यह अनोखे और बेशकीमती बेहतरीन फायदे...1. मेलबर्न में हुए एक शोध के...

    2019-07-17 09:08:30.0
  • आयुर्वेद में नीम के प्रयोग

    आयुर्वेद में नीम के प्रयोग

    नीम से सभी परिचित हैं। भारत भर में यह वृक्ष सहज सुलभ है। आयुर्वेद में नीम के प्रयोग प्रचुर मात्र में मिलते हैं। इसका स्वभाव शीत वीर्य, लघुग्राही, पाक में कटु रसयुक्त, जठराग्नि को मंद करने वाली, वात तृषा, खांसी, ज्वर, अरुचि, कृमि, वृण, पित्त, कफ,...

    2019-02-28 07:14:28.0
  • आयुर्वेदिक इलाज के लिए गिलोय बहुत ही लाभदायक

    आयुर्वेदिक इलाज के लिए गिलोय बहुत ही लाभदायक

    गिलोय की पत्तियों और तनों से सत्व निकालकर इस्तेमाल में लाया जाता है। गिलोय को आयुर्वेद में गर्म तासीर का माना जाता है। यह तैलीय होने के साथ साथ स्वाद में कडवा और हल्की झनझनाहट लाने वाला होता है। गिलोय के गुणों की संख्या काफी बड़ी है। इसमें सूजन कम...

    2019-01-17 08:48:30.0
  • गिलोय के फायदे और नुकसान

    गिलोय के फायदे और नुकसान

    गिलोय आयुर्वेद में मौजूद सबसे महत्वपूर्ण जड़ी-बूटियों में से एक है। इसे अक्सर अमृता कहा जाता है। इसे अपनी जीवनशैली का अंग बनाकर आप बहुत सारी परेशानियों से छुटकारा पा सकते हैं क्योंकि इसके सेवन से बहुत सी बीमारियां दूर हो जाती हैं। ऐसे में आप भी जानना...

    2018-11-14 10:54:35.0
  • डेंगू से कैसे बचें, उपाय और इलाज

    डेंगू से कैसे बचें, उपाय और इलाज

    डेंगू से बचने के दो ही उपाय हैं। एडीज मच्छरों को पैदा होने से रोकना। एडीज मच्छरों के काटने से बचाव करना। मच्छरों को पैदा होने से रोकने के उपाय :- घर या ऑफिस के आसपास पानी जमा न होने दें, गड्ढों को मिट्टी से भर दें, रुकी हुई नालियों को साफ करें। -...

    2018-11-12 06:33:32.0
  • गिलोय के फायदे बेहतरीन औषधीय गुण

    गिलोय के फायदे बेहतरीन औषधीय गुण

    आयुर्वेद में एक महत्वपूर्ण स्थान है। इसके खास गुणों के कारण इसे अमृत के समान समझा जाता है और इसी कारण इसे अमृता भी कहा जाता है। प्राचीन काल से ही इन पत्तियों का उपयोग विभिन्न आयुर्वेदिक दवाइयों में एक खास तत्व के रुप में किया जाता है। गिलोय की...

    2018-09-10 11:30:45.0
  • अनेक रोगों की एक दवा नारियल पानी

    अनेक रोगों की एक दवा नारियल पानी

    अगर आपके शरीर में ग्लूकोज की कमी हो रही है तो आप नारियल पानी का इस्तेमाल कर सकते हैं। शिशुओं में डी-हाइड्रेशन की समस्या को दूर करने के लिए यह एक आदर्श पेय है। हरे नारियल के पानी के रासायनिक गुण रक्त प्लाज़्मा के समान हैं। कच्चे नारियल की तुलना मां...

    2018-09-10 09:52:44.0
  • कैसा हो मरीजों का आहार?

    कैसा हो मरीजों का आहार?

    डेंगू बुखार एक जानलेवा बीमारी है। इस बीमारी से ग्रस्त मरीज को अपनी सेहत का खास ख्याल रखना पड़ता है। आइए जानें, डेंगू के मरीज को किस तरह का आहार लेना चाहिएहालांकि डेंगू मरीजों को बुखार के दौरान और उसके बाद भी किसी खास तरह का आहार देने की बात नहीं की...

    2018-09-06 07:52:16.0
  • तुलसी है कई रोगों की दवा

    तुलसी है कई रोगों की दवा

    आयुर्वेद में तो पहले से ही लोग तुलसी के गुणों को मानते थे, अब एलोपैथी भी इन गुणों को मानने लगी है। विशेषज्ञों ने स्वीकार किया है कि तुलसी मनुष्य के शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक होती है और मलेरिया, डेंगू, खांसी, सर्दी-जुकाम आदि विभिन्न...

    2018-08-01 07:18:25.0
  • गिलोय के औषधीय गुण

    गिलोय के औषधीय गुण

    गिलोय एक रसायन है, यह रक्तशोधक, ओजवर्धक, हृदयरोग नाशक, शोधनाशक और लीवर टॉनिक भी है। यह पीलिया और जीर्ण ज्वर का नाश करती है। अग्नि को तीव्र करती है, वातरक्त और आमवात के लिये तो यह महाविनाशक है। गिलोय के 63 तने को लेकर कुचल लें उसमें 4-5 पत्तियां...

    2018-06-04 06:13:39.0
Share it
Top
To Top