Read latest updates about "Nosebleed/नकसीर" - Page 1

  • बेमिसाल नीम के औषधीय गुण

    बेमिसाल नीम के औषधीय गुण

    नीम आयुर्वेद का एक महत्वपूर्ण भाग है। नीम का उपयोग अनेक रोगों व समस्याओं के निदान में किया जाता है। नीम का पेड़ अनेक गुणों से परिपूर्ण होता है। नीम के पेड़ के सभी भागों का अपना एक अलग महत्व होता है। नीम के फल और बीजों से तेल निकाला जाता है। इस तेल...

    2019-08-21 06:42:20.0
  • प्राण घातक बीमारियों की दवा है कलौंजी

    प्राण घातक बीमारियों की दवा है कलौंजी

    कलौंजी के बारे में कहा जाता है कि यह कलयुग की संजीवनी बूटी है। सही तरीके से यदि इसका सेवन किया जाए तो इससे भयानक से भयानक बीमारी ठीक हो सकती है। आज हम आपको उन बीमारियों के बारे में बताने जा रहे हैं जिसमें कलौंजी का इस्तेमाल किया जा सकता है। साथ हम...

    2019-08-09 08:34:24.0
  • दूध से अधिक दही में कैल्शियम

    दूध से अधिक दही में कैल्शियम

    1) दही में दूध से अधिक कैल्शियम होता है। दही आसानी से पच भी जाता है, इसलिए शरीर में कैल्शियम की कमी हो तो दही खायें। कैल्सियम शरीर में हड्डी, दांत, नाखून आदि का विकास और संरक्षण करता है। 2) आयुर्वेद में दही के कई फायदे बताये गये हैं। दही शरीर में...

    2019-07-31 07:30:41.0
  • सेहत के लिए अखरोट के फायदे व उसके नुकसान

    सेहत के लिए अखरोट के फायदे व उसके नुकसान

    1. दिल के स्वास्थ्य के लिएअखरोट दिल को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है। इसमें प्रचुर मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है, जो आपकी हृदय प्रणाली के लिए फायदेमंद होता है। इसके अलावा, यह भी पाया गया है कि जिन्हें उच्च रक्तचाप की समस्या होती है, उनके...

    2019-06-17 15:12:31.0
  • जानिए खरबूजे के यह बेहतरीन लाभ

    जानिए खरबूजे के यह बेहतरीन लाभ

    गर्मी के मौसम में आने वाला स्वादिष्ट खरबूजा, स्वाद के साथ-साथ पानी और कई पोषक तत्वों का भी खजाना है, जो आपको सेहत के साथ-साथ सौंदर्य से जुड़े कई फायदे दे सकता है। खरबूजे के यह बेमिसाल फायदे : 1 खरबूजा शरीर में पानी की कमी की पूर्ति करता है साथ ही...

    2019-05-16 09:08:50.0
  • किशमिश का पोषण का महत्व

    किशमिश का पोषण का महत्व

    बच्चों के नाश्ते में किशमिश को शामिल करें। उन्हें रात को भिगोकर सुबह भी खाने को दे सकते हैं। किशमिश पौष्टिक, रोगनाशक भोजन है यह दिमाग के लिए भी फायदेमंद होती हैं ।दिमागी तरावट के लिए -हरी किशमिश के 40 दाने धोकर सौ ग्राम अर्क गुलाब में रात भर भिगोये...

    2019-05-07 08:38:37.0
  • अदरक, लहसुन, तुलसी, नीम, काली मिर्च से करें उपचार

    अदरक, लहसुन, तुलसी, नीम, काली मिर्च से करें उपचार

    आयुर्वेद के हिसाब से आपका पाचन तंत्र ठीक होगा तो शरीर में त्रिदोष- वात, पित्त और कफ कम होंगे, आव नहीं बनेगा, पाचन प्रक्रिया सुचारु चलेगी और खांसी-जुकाम, सांस लेने में दिक्कत नहीं होगी। वातावरण में फैले प्रदूषण का सामना करने और प्रतिरोधक क्षमता को...

    2019-05-07 07:23:02.0
  • ईसबगोल के लाभ

    ईसबगोल के लाभ

    बाजार में औषधि‍ के रूप में मिलने वाले ईसबगोल का उपयोग आपने कभी किया हो या न किया हो। लेकिन इसके गुणों को जानना आपके लिए बेहद फायदे का सौदा साबित हो सकता है। यदि‍ आप सोच रहे हैं कि वह कैसे, तो जरूर पढ़ें नीचे दिए गए ईसबगोल के उपाय - 1 डाइबिटीज - ...

    2019-04-17 10:45:09.0
  • फिटकरी एक फायदे अनेक

    फिटकरी एक फायदे अनेक

    - पनीर बनाने के लिए दूध को पिसी हुई फिटकरी डालकर फाड़ें । इस प्रकार बना हुआ पनीर अधिक स्वादिष्ट व मुलायम बनता है। - पशु पक्षी आदि को लगी चोट में फिटकरी फायदेमंद होती है। पतंग के मांझे से घायल पक्षी को लगी चोट फिटकरी घुले पानी से धोएँ। ये पानी उसे...

    2019-04-17 07:36:27.0
  • मेहंदी के चिकित्‍सीय उपयोग

    मेहंदी के चिकित्‍सीय उपयोग

    1. मेहंदी के पत्‍तों में ऐसे तत्‍व पाये जाते हैं, जिनसे खाघ पदार्थों को दूषित करने वाले कीटाणु नष्‍ट हो जाते हैं, इसलिये हाथों में मेहंदी लगाने से कुप्रभावयुक्‍त शक्‍ति भोज्‍य पदार्थों पर अपना कोई प्रभाव नहीं डालती है। 2. उच्‍च रक्‍तचाप के रोगियों...

    2019-01-21 12:04:32.0
  • अमृत समान है गाय के दूध का घी

    अमृत समान है गाय के दूध का घी

    गाय के दूध का घी जवानी को कायम रखते हुए, बुढ़ापे को दूर रखता है। काली गाय का घी खाने से बूढ़ा व्यक्ति भी जवान जैसा हो जाता है। गाय के घी से बेहतर कोई दूसरी चीज नहीं। दो बूंद देसी गाय का घी नाक में सुबह-शाम डालने से माइग्रेन दर्द ठीक होता है। सिर...

    2018-11-26 07:08:05.0
  • अंजीर बनाता है पाचनतंत्र को मजबूत

    अंजीर बनाता है पाचनतंत्र को मजबूत

    अंजीर पहाड़ों पर खूब पैदा होता है। उष्ण प्रदेशों में भी यह कहीं पाया जाता है। इसमें वर्ष में दो बार फल आते है जून-जुलाई तथा इसके बाद जनवरी मास में। अंजीर के पके हुए फल को शीतल, मधुर, तृष्तिदायक, क्षय, वात, पित्त एवं कफ को नष्ट करने वाला माना जाता...

    2018-10-09 06:09:03.0
Share it
Top
To Top