Read latest updates about "Pyorrhea/पायरिया" - Page 1

  • आयुर्वेद में नीम के प्रयोग

    आयुर्वेद में नीम के प्रयोग

    नीम से सभी परिचित हैं। भारत भर में यह वृक्ष सहज सुलभ है। आयुर्वेद में नीम के प्रयोग प्रचुर मात्र में मिलते हैं। इसका स्वभाव शीत वीर्य, लघुग्राही, पाक में कटु रसयुक्त, जठराग्नि को मंद करने वाली, वात तृषा, खांसी, ज्वर, अरुचि, कृमि, वृण, पित्त, कफ,...

    2019-02-28 07:14:28.0
  • बीमारियों में कारगर है गुणकारी मूली और इसके पत्ते

    बीमारियों में कारगर है गुणकारी मूली और इसके पत्ते

    पूरे साल मिलने वाली मूली हमारे भोजन में तो स्वाद बढ़ाती ही है, अपनी अनेक खूबियों के कारण यह कई बीमारियों में भी बेहद कारगर साबित होती है। सालभर मिलने वाली मूली पौष्टिकता से भी भरपूर होती है। प्रति सौ ग्राम मूली में मिलने वाले पोषक तत्वों में...

    2019-02-20 10:59:20.0
  • फिटकरी के हैरान कर देने वाले फायदे

    फिटकरी के हैरान कर देने वाले फायदे

    फिटकरी बहते हुए खून को रोकने के काम आती है। अधिकांश लोग इसे ही फिटकरी का सबसे बड़ा फायदा मानते हैं। फिटकरी के फायदे यहीं तक सीमित नहीं हैं। फिटकरी केवल बहते हुए खून को रोकने के काम ही नहीं आती बल्कि इसके और भी कई हैरान कर देने वाले फायदे हैं। फिटकरी...

    2019-02-12 13:22:11.0
  • बड़े काम का पुदीना

    बड़े काम का पुदीना

    - सलाद में इसका उपयोग स्वास्थ्यवर्धक है। अगर इसकी पत्तियों को रोज चबाया जाए तो दांत रोग, पायरिया, मसूढ़ों से रक्त निकलता आदि रोग दूर हो जाते हैं।- एक गिलास पानी में पुदीने की 4-5 पत्तियां उबालें! ठंडा होने पर फ्रिज में रख दें। इस पानी से कुल्ला करने...

    2019-01-30 06:56:28.0
  • मसूड़ों की बीमारी और उनके घरेलू उपचार

    मसूड़ों की बीमारी और उनके घरेलू उपचार

    वर्तमान समय में दांत और मसूड़ों की समस्या काफी आम हो गई हैं, और इसका मुख्य कारण हमारी अनियमित दिनचर्या है। आइए दांतों और मसूड़ों के दर्द के आसान घरेलू उपायों के बारे में जानते हैं, जो आपको इन समस्याओं से मुक्ति दिलाएंगे।1. गुनगुने पानी में नमक...

    2019-01-30 06:05:02.0
  • अजवाइन रोज खाओ, बीमारी से छुटकारा पाओ

    अजवाइन रोज खाओ, बीमारी से छुटकारा पाओ

    आमतौर पर अजवाइन का इस्‍तेमाल नमकीन पूरी, मठ्ठी, नमक पारे और पराठों का स्‍वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है। लेकिन अजवाइन के छोटे-छोटे बीजों में ऐसे गुणकारी तत्‍व मौजूद हैं, जिनसे आप अब तक अंजान हैं। इनडाइजेशन या अपच होने पर अकसर मां हमें गरम पानी और...

    2019-01-21 12:23:51.0
  • जानिए बड़ी इलायची से होने वाले बड़े फायदे

    जानिए बड़ी इलायची से होने वाले बड़े फायदे

    वास्तव में यह एक सुगंधित मसाला है, जो कि दो तरह की होती है- बडी इलायची और हरी इलायची। इन दोनों के बडी इलायची सबसे ज्यादा लोकप्रिय है। अपने विशिष्ट स्वाद और जबर्दस्त सुगंध के कारण इसका इस्तेमाल खाना बनाने में किया जाता है। बड़ी इलायची को काली इलायची,...

    2019-01-17 10:54:05.0
  • बुढापा दूर रखने के उपाय

    बुढापा दूर रखने के उपाय

    आंवलो के मौसम मे नित्य प्रातः काल व्यायाम या वॉक करने के बाद दो पके हुए हरे आंवलो को चबा कर खाने से या आंवलो का रस दो चम्‍मच ओर दो चम्‍मच शहद मिला कर पीए। जब आंवलो का मौसम ना रहे तब सूखे आंवलो को कूट पीस कर कपड़े से छान कर बनाया गया आंवलो का चूर्ण...

    2018-11-22 07:03:06.0
  • अमरूद और उसके फ़ायदे

    अमरूद और उसके फ़ायदे

    अमरूद एक विटामिन 'सी' से युक्त सस्ता फल है जिसका सेवन करने से त्वचा के लावण्य और कांति में निरंतर वृद्धि होती है व यौवन में निखार आता है। अमरूद की बहुत सी किस्में होती हैं। इसकी किस्मों में सफेदा, सुर्खा और सेबी प्रसिद्ध है।सफेदा अमरूद चिकनाईयुक्त...

    2018-11-19 11:19:29.0
  • सेहत के लिए फायदेमंद बथुआ

    सेहत के लिए फायदेमंद बथुआ

    बथुआ एक ऐसा साग है जिसके गुणों से ज्यादातर लोग अनजान हैं। यह सिर्फ सर्दी के मौसम में ही मिलता है और ठंड में इसका सेवन सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद माना जाता है। इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन A, आयरन, कैल्शियम, फॉसफोरस और पौटेशियम मौजूद होता है।...

    2018-10-22 07:47:24.0
  • फिटकरी के फायदे व उपयोग

    फिटकरी के फायदे व उपयोग

    फिटकरी को अंग्रेजी में एलम Alum कहते है। ये दरअसल पोटेशियम एल्युमिनीयम सल्फेट है। फिटकरी में कई प्रकार के औषधीय गुण होते है। इसमें चोट लगने पर खून बहना बंद करने का विशेष गुण होता है तथा साथ ही ये एंटीसेप्टिक और एंटी बैक्टीरियल की तरह काम करती है ।...

    2018-09-22 06:21:47.0
  • गुणकारी तुलसी के फ़ायदे

    गुणकारी तुलसी के फ़ायदे

    व्यक्ति हमेशा गुणों की पूजा करता है। तुलसी हमेशा ही हमारे समाज में पूजनीय रही है। उसका कारण है तुलसी में निहित गुण। आरोग्य के लिए तुलसी अपने आप में बहुत से गुण समाए हुए है इसलिए इसे घर का वैद्यय् भी कहा जाता है। तुलसी मुख्यतः वात एवं कफ रोगों के लिए...

    2018-09-13 11:47:02.0
Share it
Top
To Top