Read latest updates about "Toothache/दांत दर्द" - Page 1

  • बेमिसाल नीम के औषधीय गुण

    बेमिसाल नीम के औषधीय गुण

    नीम आयुर्वेद का एक महत्वपूर्ण भाग है। नीम का उपयोग अनेक रोगों व समस्याओं के निदान में किया जाता है। नीम का पेड़ अनेक गुणों से परिपूर्ण होता है। नीम के पेड़ के सभी भागों का अपना एक अलग महत्व होता है। नीम के फल और बीजों से तेल निकाला जाता है। इस तेल...

    2019-08-21 06:42:20.0
  • आम की गुठली भी है बेहद गुणकारी

    आम की गुठली भी है बेहद गुणकारी

    आयुर्वेद में आम एक ऐसा फल है जिसे काफी ज्‍यादा पसंद किया गया है। आम के पेड़ का हर हिस्‍सा काफी उपयोगी होता है। आज हम आपको आम की गुठली के स्‍वास्‍थ्‍य वर्धक फायदे बताएंगे, जिसे आपने कभी नहीं सुने होंगे। आम फलों का राजा यूं ही नहीं कहा गया है। मीठे आम...

    2019-08-17 07:50:42.0
  • प्राण घातक बीमारियों की दवा है कलौंजी

    प्राण घातक बीमारियों की दवा है कलौंजी

    कलौंजी के बारे में कहा जाता है कि यह कलयुग की संजीवनी बूटी है। सही तरीके से यदि इसका सेवन किया जाए तो इससे भयानक से भयानक बीमारी ठीक हो सकती है। आज हम आपको उन बीमारियों के बारे में बताने जा रहे हैं जिसमें कलौंजी का इस्तेमाल किया जा सकता है। साथ हम...

    2019-08-09 08:34:24.0
  • नींबू के फायदे ही नहीं कुछ नुकसान भी हैं

    नींबू के फायदे ही नहीं कुछ नुकसान भी हैं

    यदि आप भी वज़न कम करने के लिए खूब नींबू पानी पीते हैं तो सावधान हो जाइए, क्योंकि ज़रूरत से ज़्यादा नींबू पानी का सेवन आपकी सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है। बहुत ज़्यादा नींबू पानी पीने का आपकी सेहत पर क्या असर हो सकता है?दांतों को नुकसान पहुंचता है ...

    2019-07-30 10:10:05.0
  • सौंदर्य बढ़ाएगा तेजपत्ता

    सौंदर्य बढ़ाएगा तेजपत्ता

    गरम मसालों में प्रमुखता से प्रयोग होने वाला तेजपत्ता, आपकी सेहत के साथ-साथ सौंदर्य के लिए भी बहुत फायदेमंद है। सुंदर त्वचा के साथ-साथ, बालों के सौंदर्य को बढ़ाने में भी तेजपत्ता आपके लिए बेहद उपयोगी साबित हो सकता है। अगर जानना चाहते हैं इसके लाभ, तो...

    2019-07-22 11:05:41.0
  • मुलहठी के 6 अनमोल गुण

    मुलहठी के 6 अनमोल गुण

    औषधि‍ और माउथफ्रेशनर के रूप में उपयोग की जाने वाली मुलहठी अपने आप में कई लाभप्रद गुणों को समेटे हुए हैं। आइए आपको भी बताते हैं, इसके अनमोल गुणों के बारे में, जो आपके लिए बेहद उपयोग साबित होंगे :- 1 अगर आप सूखी खांसी या गले की समस्याओं से परेशान...

    2019-07-15 07:09:22.0
  • शहद के फायदे और उसके तरीके

    शहद के फायदे और उसके तरीके

    शहद के रोग निवारण गुणों पर निरंतर शोधकार्य चल रहे हैं। यह एक गुणकारी पदार्थ है, जो इंसान के लिए प्राकृतिक उपहार से कम नहीं है। शहद में कई पोषक तत्व पाए जाते हैं, जिनमें ग्लूकोज, विटामिन, अमीनो अल्म, खजिन व शर्करा आदि शामिल हैं। ये तत्व मिलकर शहद को...

    2019-06-24 09:08:54.0
  • मुनक्का औषधीय गुणों से भरपूर

    मुनक्का औषधीय गुणों से भरपूर

    आयुर्वेद में तो मुनक्का को औषधीय गुणों से भरपूरबताया गया है। इसकी प्रकृति या तासीर गर्म होती है। यह कई रोगों में दवाई के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। सर्दी-जुकाम होने पर सर्दी-जुकाम हो जाए तो रात को सोने से पहले दूध में 2-3 मुनक्के उबाल कर...

    2019-06-03 08:42:34.0
  • वरदान है तुलसी, जानिए तुलसी के बड़े फायदे

    वरदान है तुलसी, जानिए तुलसी के बड़े फायदे

    ज्यादातर हिंदू परिवारों में तुलसी की पूजा की जाती है। इसे सुख और कल्याण के तौर पर देखा जाता है लेकिन पौराणिक महत्व से अलग तुलसी एक जानी-मानी औषधि भी है, जिसका इस्तेमाल कई बीमारियों में किया जाता है। सर्दी-खांसी से लेकर कई बड़ी और भयंकर बीमारियों में...

    2019-05-23 11:45:44.0
  • कैल्शियम की कमी के कारण और उपचार

    कैल्शियम की कमी के कारण और उपचार

    स्वस्थ शरीर और खुशहाल जीवन के लिए कैल्शियम बेहद जरुरी पोषक तत्व है। ऐसे तो हमें प्रतिदिन थोड़ी मात्रा में कैल्शियम की जरुरत होती है लेकिन अगर इसे खाने में शामिल न किया गया तो शरीर में इसकी कमी होने लगती है। और इसे नजरअंदाज़ करना खतरनाक साबित हो सकता...

    2019-05-22 09:50:30.0
  • किशमिश का पोषण का महत्व

    किशमिश का पोषण का महत्व

    बच्चों के नाश्ते में किशमिश को शामिल करें। उन्हें रात को भिगोकर सुबह भी खाने को दे सकते हैं। किशमिश पौष्टिक, रोगनाशक भोजन है यह दिमाग के लिए भी फायदेमंद होती हैं ।दिमागी तरावट के लिए -हरी किशमिश के 40 दाने धोकर सौ ग्राम अर्क गुलाब में रात भर भिगोये...

    2019-05-07 08:38:37.0
  • अदरक, लहसुन, तुलसी, नीम, काली मिर्च से करें उपचार

    अदरक, लहसुन, तुलसी, नीम, काली मिर्च से करें उपचार

    आयुर्वेद के हिसाब से आपका पाचन तंत्र ठीक होगा तो शरीर में त्रिदोष- वात, पित्त और कफ कम होंगे, आव नहीं बनेगा, पाचन प्रक्रिया सुचारु चलेगी और खांसी-जुकाम, सांस लेने में दिक्कत नहीं होगी। वातावरण में फैले प्रदूषण का सामना करने और प्रतिरोधक क्षमता को...

    2019-05-07 07:23:02.0
Share it
Top
To Top