Read latest updates about "Urine/मूत्र रोग" - Page 1

  • जानिए बड़ी इलायची से होने वाले बड़े फायदे

    जानिए बड़ी इलायची से होने वाले बड़े फायदे

    वास्तव में यह एक सुगंधित मसाला है, जो कि दो तरह की होती है- बडी इलायची और हरी इलायची। इन दोनों के बडी इलायची सबसे ज्यादा लोकप्रिय है। अपने विशिष्ट स्वाद और जबर्दस्त सुगंध के कारण इसका इस्तेमाल खाना बनाने में किया जाता है। बड़ी इलायची को काली इलायची,...

    2019-01-17 10:54:05.0
  • आयुर्वेदिक इलाज के लिए गिलोय बहुत ही लाभदायक

    आयुर्वेदिक इलाज के लिए गिलोय बहुत ही लाभदायक

    गिलोय की पत्तियों और तनों से सत्व निकालकर इस्तेमाल में लाया जाता है। गिलोय को आयुर्वेद में गर्म तासीर का माना जाता है। यह तैलीय होने के साथ साथ स्वाद में कडवा और हल्की झनझनाहट लाने वाला होता है। गिलोय के गुणों की संख्या काफी बड़ी है। इसमें सूजन कम...

    2019-01-17 08:48:30.0
  • संतरे की रसीली बातें

    संतरे की रसीली बातें

    - एक सामान्य आकार के संतरे में पाए जाने वाले तत्वों का विवरण इस प्रकार है। प्रोटीन-0-25 ग्राम, कार्बोज 2-69 ग्राम, वसा 0-03 ग्राम, कैल्शियम 0-045 प्रतिशत, फास्फोरस 0-021 प्रतिशत, लोहा 5-2 प्रतिशत, तांबा 0-8 प्रतिशत।- संतरे की सबसे बड़ी विशेषता यह...

    2019-01-07 12:09:42.0
  • सिरके के घरेलू इलाज

    सिरके के घरेलू इलाज

    - किसी ने धतूरा खा लिया हो, तो उसे अंगूर का सिरका दूध में मिलाकर पिलाने से काफी लाभ होता है।- एक प्याले में सेव का सिरका, एक कप शहद और छिले हुए लहसुन की आठ गांठे मिलाओं, इन सबको तेज चलने वाली मिक्सी में डाल कर एक मिनट के लिए चला दो और घोल तैयार...

    2019-01-02 07:04:44.0
  • साधारण  नीबू,  असाधारण  गुण

    साधारण नीबू, असाधारण गुण

    आज अधिकांश व्यक्ति छोटी-छोटी बीमारियों के निदान के लिए बडे-बडे डॉक्टरों, अस्पतालों के पीछे हजारों रूपये बर्बाद कर देते हैं। फायदे के बदले कभी-कभी हानियां भी उठानी पडती हैं। प्रकृति ने हमें देसी घरेलू औषधियां दी हैं जो सहजता से हमारे पास उपलब्ध हैं।...

    2018-12-26 10:07:46.0
  • स्पा थैरेपी और उसके फायदे

    स्पा थैरेपी और उसके फायदे

    सुगंधित औषधीय स्नान की परंपरा देश-दुनिया में बहुत पुरानी है। आज शारीरिक सौंदर्य के ऐसे ही बहुत से जतन स्पा में भी किए जाते हैं। पहले यह परंपरा धनाढ्य और संभ्रांत वर्ग तक सीमित थी लेकिन अब मध्यवर्गीय लोग भी स्पा की राह पकड़ने लगे हैं। आइए हम आपको देते...

    2018-12-26 07:53:17.0
  • फिटकरी के कुछ बेहतरीन फायदे

    फिटकरी के कुछ बेहतरीन फायदे

    1. चोट लग जाने परअगर आपको कोई चोट लग गई हो या फिर घाव हो गया हो और उससे लगातार खून आ रहा हो तो फिटकरी के पानी से घाव को धो लें। इससे खून बहना बंद हो जाएगा. फिटकरी के पानी की जगह आप फिटकरी को महीन पीसकर भी प्रयोग में ला सकते हैं। 2. चेहरे की...

    2018-12-24 11:57:36.0
  • चंदन के आयुर्वेदिक फायदे जान कर आप हो जाएंगे हैरान

    चंदन के आयुर्वेदिक फायदे जान कर आप हो जाएंगे हैरान

    आयुर्वेद मतानुसार चंदन शीतल, तिक्त, रक्त स्तंभक, दाहप्रशामक, ग्राही, विषघ्न, मूत्रल, स्वेदजन, बाजीकर आदि गुणों से युक्त है। इसके इन गुणों के कारण ही इसे ज्वर, रक्तपित्त, तृषा, वमन, मूत्रकृच्छ, मूत्रघात, श्वेतप्रदर, प्रवाहिका, चर्मरोग, विसर्प,...

    2018-12-21 06:43:24.0
  • मेडिसिन है अश्‍वगंधा

    मेडिसिन है अश्‍वगंधा

    अश्‍वगंधा एक चमत्कारी हर्ब है। इसे आयुर्वेद में अहम् स्थान प्राप्त है। आयुर्वेद में बेहद महत्व रखने वाला अश्वगंधा, एक ऐसी औषधि है जो न केवल आपके तनाव को दूर करती है बल्कि सेहत और सौंदर्य से जुड़े कुछ फायदे भी देती है।– तनाव, चिंता, थकावट, नींद की...

    2018-11-27 09:35:22.0
  • औषधीय गुणों की भरमार है मुनक्का

    औषधीय गुणों की भरमार है मुनक्का

    दिखने में छोटी मुनक्का बहुत ही गुणकारी है। इसमें वसा की मात्र नहीं के बराबर होती है। यह हल्की, सुपाच्य, नरम और स्वाद से मधुर होती है। इसे बड़ी दाख (रेजिन) के नाम से भी जाना जाता है। साधारण दाख और मुनक्का में इतना फर्क है कि यह बीज वाली होती है और...

    2018-11-26 10:44:36.0
  • एलोविरा : गुणों का खजाना, बस एक चम्मच रोजाना

    एलोविरा : गुणों का खजाना, बस एक चम्मच रोजाना

    एलोविरा देखने में यह अवश्य अजीब सा पौधा है लेकिन इसके गुणों का कहीं कोई अंत नहीं है। यह जहां बवासीर, डायबिटीज, गर्भाशय के रोग, पेट की खराबी, जोड़ों का दर्द, त्वचा की खराबी, मुंहासे, रूखी त्वचा, धूप से झुलसी त्वचा, झुर्रियों, चेहरे के दाग-धब्बों,...

    2018-11-22 07:55:41.0
  • बुढापा दूर रखने के उपाय

    बुढापा दूर रखने के उपाय

    आंवलो के मौसम मे नित्य प्रातः काल व्यायाम या वॉक करने के बाद दो पके हुए हरे आंवलो को चबा कर खाने से या आंवलो का रस दो चम्‍मच ओर दो चम्‍मच शहद मिला कर पीए। जब आंवलो का मौसम ना रहे तब सूखे आंवलो को कूट पीस कर कपड़े से छान कर बनाया गया आंवलो का चूर्ण...

    2018-11-22 07:03:06.0
Share it
Top
To Top