मशरूम खाने के फायदे और नुकसान

मशरूम खाने के फायदे और नुकसान

हृदय :

मशरूम दिल की सेहत का लिए अच्छा होता है। क्योकि इसमें फाइबर , पोटेशियम तथा विटामिन 'C' ऐसे तत्व हैं जो हृदय के लिए फायदेमंद होते हैं। ये ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल को कम करते हैं। इसके अलावा इसमें पाया जाने वाला बीटा ग्लुकेन नामक तत्व भी कोलेस्ट्रॉल कम करने में सहायक होता है।

प्रतिरोधक क्षमता :

मशरूम से मिलने वाले सेलेनियम तथा एर्गोथियोनिन नामक तत्व प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक होते है।एर्गोथियोनिन में सल्फर होता है जिसकी कमी कई लोगों में पाई जाती है। यह तत्व प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि करता है। इसके अलावा मशरूम में विटामिन A, B और C का अच्छा समिश्रण होता है जो प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाते हैं।

खून की कमी :

मशरूम में आयरन और कॉपर दोनों खनिज पाए जाते हैं। कॉपर आयरन के अवशोषण में सहायक होता है। अतः मशरूम खाने से शरीर में आयरन की कमी दूर हो सकती है। यह खून की कमी के कारण होने वाली बीमारी एनीमिया को दूर करने में सहायक हो सकता है।

कैंसर :

मशरूम में गाजर, टमाटर, शिमला मिर्च, काशीफल, फलियां आदि की तरह एंटीऑक्सीडेंट प्रचुर मात्रा में होते हैं। ये ऑक्सीडेंट हानिकारक फ्री रेडिकल्स से बचाते हैं। फ्री रेडिकल्स कैंसर का कारण बन सकते हैं।

डायबिटीज :

इसमें घुलनशील और अघुलनशील दोनों प्रकार के फाइबर होते है। फाइबर युक्त भोजन लेने से रक्त में शक्कर की मात्रा नियंत्रित करने में मदद मिलती है। फाइबर पाचन में मदद करके स्वस्थ रहने में तथा डायबिटीज को दूर रखने में सहायक हो सकता है।

हड्डी और दांत :

मशरूम में कैल्शियम, फास्फोरस तथा विटामिन डी होते हैं। ये तीनो तत्व हड्डी और दांत की मजबूती के लिए जरूरी होते हैं। शरीर द्वारा कैल्शियम के अवशोषण के लिए विटामिन डी आवश्यक होता है।

मशरूम के नुकसान :

मशरूम की कई प्रजातियां जहरीली होती हैं जो खाने योग्य नहीं होती हैं। यदि अच्छी पहचान नहीं हो तो कहीं भी उगी हुई मशरूम देखकर खाने के लिए नहीं लेनी चाहिए।

कई जंगली मशरूम में भारी धातु हो सकती है जो बहुत खतरनाक साबित हो सकती है। ऐसी मशरूम न सिर्फ शरीर के लिए बल्कि हवा और पानी को भी संक्रमित कर सकती हैं। प्रदूषित वातावरण में पैदा होने वाली खाने योग्य प्रजाति भी हानिकारक हो सकती है।

मशरूम से कुछ लोगों को एलर्जी हो सकती है। ऐसे में इसका उपयोग नहीं करना चाहिए। यदि मशरूम खाना शुरू कर रहे हों तो पहले कम मात्रा में खाना चाहिए, एलर्जी नहीं हो तो अधिक खा सकते हैं।

पुराने, बासी या सही तापमान पर नहीं रखे गए मशरूम का उपयोग फ़ूड पोइज़निंग का कारण बन सकता है अतः ताजा मशरूम ही काम में लेने चाहिए। बाजार से भी विश्वसनीय जगह से ही इन्हे खरीदना चाहिए।

सिर्फ एक जहरीली मशरूम के भोजन में आ जाने से कई लोग बीमार हो सकते हैं। इसकी वजह से जी घबराना, उल्टी आना, बेहोशी आना, मतिभ्रम होना, ऐंठन होना आदि लक्षण प्रकट हो सकते हैं।


Share it
Top
To Top