Read latest updates about "Human body parts" - Page 1

  • मस्तिष्क की तंदुरूस्ती के लिए खाएं खनिज और विटामिन

    मस्तिष्क की तंदुरूस्ती के लिए खाएं खनिज और विटामिन

    कॉपर दिमाग के लिए बहुत जरूरी है। इसे हम मशरूम, मटर, बीन्स, अनाज से प्राप्त कर सकते हैं। दिमाग की ताकत बढाने के लिए आयरन का सेवन भी जरूरी है इन्हें हम मूंगफली, दालों, हरी सब्जियों और बीन्स से प्राप्त कर सकते हैं। कैल्शियम दिमाग को दुरूस्त रखता है।...

    2018-09-05 07:11:00.0
  • ब्रेन स्ट्रोक के बाद डॉक्टर से पूछें ये सवाल

    ब्रेन स्ट्रोक के बाद डॉक्टर से पूछें ये सवाल

    जीवनशैली में हो रहे तेज बदलाव के चलते ब्रेन स्ट्रोक की समस्या तेजी से बढ़ी है, मगर जानकारी के चलते इसके खतरों से अभी भी अधिकांश लोग अनजान हैं। इंडियन स्ट्रोक एसोसिएशन की एक स्टडी के मुताबिक, दिल्ली के 45 प्रतिशत लोगों को यह भी मालूम नहीं है कि...

    2018-08-24 06:41:12.0
  • स्वस्थ जीवन हेतु ठीक रखें ब्लड सर्कुलेशन

    स्वस्थ जीवन हेतु ठीक रखें ब्लड सर्कुलेशन

    हमारे शरीर में रक्त संचार ठीक रहे तो हम बिल्कुल सामान्य जीवन जी रहे होते हैं लेकिन जैसे ही इसमेंं कोई गड़बड़ी आ जाए तो मुश्किलें शुरू हो जाती हैं। रक्त मानव शरीर का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है। आपके पूरी शरीर में न्यूट्रिएंट्स, इलेक्ट्रोलाइट्स,...

    2018-08-17 05:51:27.0
  • What is Rhinitis?

    What is Rhinitis?

    Its an inflammation of the nasal mucosa.Clinically defined by symptoms of: ● Nasal discharge ● Itching ● Sneezing ● Nasal blockage or congestion Classification of Rhinitis ● Allergic Rhinitis ● Non-Allergic Rhinitis ● Infective Rhinitis ...

    2018-07-23 06:49:27.0
  • भूलने की आदत कहीं अल्जाइमर तो नहीं

    भूलने की आदत कहीं अल्जाइमर तो नहीं

    छोटी-छोटी बातों को भूलना आम तौर पर बहुत ही सामान्य बात होती है और कई बार इसका कारण व्यस्तता या लापरवाही होता है। लेकिन भूलने का संबंध अल्जाइमर से भी होता है इसलिए इसे टालना उचित नहीं होगा।- अगर अपनों का नाम' फोन, डायल करने का तरीका भूल जाएं या अपने...

    2018-07-20 06:51:09.0
  • होंठों की देखभाल अब आपके हाथ

    होंठों की देखभाल अब आपके हाथ

    होंठ आपके चेहरे की सुंदरता व खूबसूरती का एक पैमाना हैं। होंठों से इंसान के व्यक्तित्व की पहचान भी होती है खासकर स्त्री की सुन्दरता के मापदंड में होंठों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। होंठों की भूमिका का अंदाजा आप इसी से लगा सकते हैं कि शायरों ने अपनी...

    2018-07-18 09:13:47.0
  • टॉन्सिल के घरेलू उपचार

    टॉन्सिल के घरेलू उपचार

    कागजी नीबू के रस तथा शहद को मिलाकर ऊंगुली से मुंह के अन्दर की तरफ टॉन्सिलों पर सुबह और शाम को लगाना चाहिए जिससे बहुत अधिक लाभ मिलता है। इस प्रकार से मालिश करते समय यदि रक्त या मवाद निकले तो निकलने देना चाहिए डरना नहीं चाहिए।इस प्रकार से उपचार करने...

    2018-06-18 10:59:53.0
  • हार्मोन्स गड़बड़ी से होते हैं मुहांसे

    हार्मोन्स गड़बड़ी से होते हैं मुहांसे

    हर मनुष्य अपने चेहरे के सौन्दर्य को बनाए रखना चाहता है, परन्तु अगर मुंहासे हो जाएं तो ये सबको परेशान करते हैं एवं चेहरे के सौंदर्य को दबा देते हैं। मुंहासे एक ऐसी समस्या है जो प्रायः 15 से 25 वर्ष की उम्र में कई लड़कों व लड़कियों को परेशान करती है,...

    2018-06-12 05:27:37.0
  • जड़ी-बूटी का खजाना बरगद

    जड़ी-बूटी का खजाना बरगद

    बरगद के पेड़ का औषधीय और धार्मिक दोनों ही महत्व हैं। बरगद के पेड़ के कभी भी नष्ट न होने के कारण इसे अक्षय वट भी कहा जाता है। यह भारत का राष्ट्रीय वृक्ष है। इसे तमाम औषधियों में उपयोग किया जाता है। इसके अलावा इसके पत्तों से निकलने वाले दूध को भी...

    2018-06-11 06:51:15.0
  • बेसन के इस्तेमाल से निखारें रूप

    बेसन के इस्तेमाल से निखारें रूप

    पुराने समय से बेसन का इस्तेमाल रूप निखारने के लिए किया जाता रहा है। वैसे, बेजान त्वचा में नई जान फूंकने के अलावा बेसन स्वास्थ्य के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। बेसन के उबटन या पैक को चेहरे को साफ करने और डेड स्कनि को हटाने के लिए इस्तेमाल किया जाता...

    2018-06-11 06:38:22.0
  • सर्वाइकल परिचय और इसका बचाव

    सर्वाइकल परिचय और इसका बचाव

    सर्वाइकल स्पांडिलाइटिस या सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस गर्दन के आसपास के मेरुदंड की हड्डियों की असामान्य बढ़ोतरी और सरविकल वर्टेब के बीच के कुशनों (इसे इंटरवर्टेबल डिस्क के नाम से भी जाना जाता है) में कैल्शियम का डी-जेनरेशन, बहिःक्षेपण और अपने स्थान से...

    2018-06-07 07:27:05.0
  • सरलता से संभव है मोतियाबिन्द का इलाज

    सरलता से संभव है मोतियाबिन्द का इलाज

    मोतियाबिद का उपचार केवल और केवल शल्य चिकित्सा है। ऑपरेशन से पूर्व अगर व्यक्ति का दृष्टिपटल यानी रैटिना ठीक है तो सफल शल्य चिकित्सक के उपरांत नेत्र ज्योति सामान्य हो जाती है। आधुनिक मशीनों ने आजकल शल्य चिकित्सा को बहुत आसान कर दिया है। मोतियाबिद...

    2018-06-07 06:15:59.0
Share it
Top
To Top