जीरे में छुपा है बीमारियों का इलाज

जीरे में छुपा है बीमारियों का इलाज

दाल के अलावा कई सब्जियों का स्वाद बढ़ाने के लिए भी जीरे का उपयोग किया जाता है। लेकिन जीरे की उपयोगिता केवल आपके रसोई घर तक ही सीमित नहीं है बल्कि इसका अगर सही तरीके से उपयोग किया जाए तो यह कई हैल्थ प्रॉब्लम्स की छुट्टी कर सकता है। आइए जानते हैं जीरे में छुपे कुछ ऐसे ही गुणों के बारे में :

डायबिटिक लोग लापरवाही बरतते हैं यानि अपने खान-पान में संतुलन नहीं रखते हैं तो इस असंतुलित ब्लड शुगर लेवल से उन्हें आंखों, किडनी, दिल, टांगो, पैरों और रक्तसंचार में बहुत समस्यायें पैदा हो सकती हैं। डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए आधा छोटा चम्मच पिसा जीरा दिन में दो बार पानी के साथ पीएं। डायबिटीज रोगियों को यह काफी फायदा पहुंचाता है।

गैस्ट्रिक प्रॉब्लम - अगर आप गैस व एसीडिटी से परेशान हैं तो जीरा, काली मिर्च और अदरक को बराबर मात्रा में लें। इन्हें पानी में डालकर उबालें और घोल तैयार कर लें। इस पानी को दो-तीन दिनों तक लगातार दिन में दो से तीन बार पीएं। जीरा, काली मिर्च, सोंठ और करी पावडर को बराबर मात्रा में लेकर पीस लें और मिश्रण तैयार कर लें। इसमें स्वादानुसार नमक डालकर घी में मिलाएं और चावल के साथ खाएं, पेट साफ रहेगा और कब्जियत में राहत मिलेगी।

खाना पचाने के लिए - अगर आपको भूख नहीं लगती या खाना नहीं पचता तो एक चौथाई चम्म्च जीरा पाउडर और काली मिर्च पाउडर को एक गिलास दूध में डालकर पीएं। जीरे को नींबू के रस में भिगोकर नमक मिलाकर लेने से गर्भवती महिला का जी मिचलाना बंद हो जाता है। सिरके के साथ जीरे देने से हिचकी बंद हो जाती है।

पेट दर्द में - जीरा, अजवाइन, सोंठ, काली मिर्च और काला नमक अंदाज से लेकर चूर्ण कर लें। इसमें थोड़ी-सी घी में भुनी हींग मिलाकर खाने से पाचन शक्ति बढ़ती है तथा पेट का दर्द ठीक होता है। नींद नहीं आती हो - जो लोग अनिद्रा रोग से ग्रसित हैं उनके लिए जीरा एक बढि़या दवा है। एक छोटा चम्मच भुना जीरा पके हुए केले के साथ मैश करके रोजाना रात के खाने के बाद खाएं, गहरी नींद आएगी।


Share it
Top
To Top