हींग और गुड़ के औषधीय प्रयोग

हींग और गुड़ के औषधीय प्रयोग

कहते हैं अगर हींग का सही तरीके से उपयोग किया जाए तो यह कई बीमारियों की दुश्मन है। वैद्यों का मानना है कि हींग को हमेशा भूनकर उपयोग में लाना चाहिए।

- एक कप गर्म पानी में एक चम्मच हींग का पाउडर घोलें। इस घोल में सूती कपड़े को भिगोकर पेट के उस हिस्से की सिकाई करें जहा दर्द हो रहा है। थोड़ी ही देर में दर्द से राहत मिलेगी।

- हींग में जरा सा कपूर मिलाकर दर्द वाले स्थान पर लगाने से दांत दर्द बंद हो जाता है।

- भुनी हुई हींग, कालीमिर्च, पीपल, काला नमक समान मात्रा में लेकर पीस लें। रोजाना चौथाई चम्मच यह चूर्ण गर्म पानी से सेवन करें। पेट से जुड़ी सारी समस्याएं खत्म हो जाएंगी।

- एक ग्राम हींग, पिसी हुई दस काली मिर्च, दस ग्राम गुड़ में सबको मिलाकर सुबह शाम खाएं।

- पांच ग्राम भुनी हुई हींग, चार चम्मच अजवाइन, दस मुनक्का, थोड़ा काला नमक सबको कूट पीसकर चौथाई चम्मच तीन बार नित्य लेने से, उल्टी होना, जी मिचलाना ठीक हो जाता है।

- अदरक की गांठ में छेद करके इसमें जरा सी हींग डालकर काला नमक भर कर, खाने वाले पान के पत्ते में लपेटकर धागा बांध कर गीली मिट्टी का लेप कर दें। इसे आग में डालकर कर जला लें, जल जाने पर पीसकर मूंगफली के दाने के बराबर आकार की गोलियां बना लें। थोड़ी सी हींग को गुड़ में लपेटकर गरम पानी से लें।


Share it
Top
To Top